BusinessFoodsGamesTravelएंटरटेनमेंटदुनियापॉलिटिक्सवाराणसी तक

Varanasi News: छोटी ईद के मेले में आस्ताने पर जुटी भीड़, मना हजरत मकदूम शाह तैयब बनारसी का उस्र

ईद मेले में उमड़ी भीड़ हजरत महदूम शाह तैय्यब बनारसी की वजह

मकदूम शाह बनारसी के जश्न पर लगा छोटी ईद का मेला
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


ईद के छठवें दिन छोटी ईद का उल्लास छाया रहा। मंडुवाडीह स्थित हजरत मकदूम शाह तैयबबरसी की दरगाह पर छोटी ईद का मेला लगा। अकीदतमंदों ने आस्ताने पर फातिहा पढ़ी। बच्चों के साथ बड़ों ने यहां छोटी ईद की खुशियां बांटी। बच्चों ने खिलौने व चटपटे युगल का शोरूम उठाया। देर रात तक दरगाह पर जियारत करने वालों की भीड़ लगी रही।

हजरत मकदूम शाह तैयब बनारसी का उर्स छोटी ईद विशेष रूप से मनाई जाती है।

मस्जिद परिसर में फातिहा पढ़ने और मन्नत की चादर चढ़ाने के लिए अकीदतमंद सुबह से ही पहुंच गए थे। चयनकर्ता के बिस्कुट, लच्छा पराठा, हर तरह के पकाऊ व्यंजन, खिलौने, शृंगार की सामग्री आदि की सजी छोटी साजी सजी थीं। जहां बच्चों और महिलाओं की भीड़ थी। वहीं, मंदिर में ईशान की नमाज के बाद बाबा की मूर्तियां निकाली गईं। मौलाना नूर आलम की निगरानी में गुस्ल, कोलोन की चंद्रपोशी हुई। देर रात तक कव्वाली की महफ़िल सजी रही।

दिन भर मनाया नफिल रोजा

ईद के बाद छोटी ईद तक काफी अकीदतमंदों ने नफिल रोजा रखा। रविवार को अजान के साथ उन्होंने रोजा खोला और मगरिब की नमाज अदा की। फिर पिरामिड में लगे मेले में विद्वान की। मौ. आरोन रसीद नक्शबंदियों ने बताया कि नफिल रोजे की खूबियां काफी हैं। इस रोजे को रखने वाले को एक साल के रोजे के बराबर स्वाद मिलता है।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button