BusinessFoodsGamesTravelएंटरटेनमेंटदुनियापॉलिटिक्सवाराणसी तक

Kidney Disease: बीमार किडनी शुरुआत में देती है ये सामान्य संकेत, तत्काल हो जाएं अलर्ट – Kidney Disease Sick kidney gives these common signs in the beginning be alert immediately

अगर किडनी ठीक तरह से काम नहीं करती है तो इसके लक्षण त्वचा पर भी दिखाई देते हैं। शरीर में टॉक्सिन बढ़ने पर त्वचा रूखी और खुजली युक्त होती है।

द्वारा संदीप चौरे

प्रकाशित तिथि: शनिवार, 20 अप्रैल 2024 10:31 पूर्वाह्न (IST)

अद्यतन दिनांक: शनिवार, 20 अप्रैल 2024 10:31 पूर्वाह्न (IST)

गुर्दे की बीमारी: गुर्दे की बीमारी की शुरुआत में होता है ये सामान्य संकेत, लागू हो सकता है खतरा
क्रोनिक किडनी रोग वाले लोगों में स्लीप एपनिया की समस्या आम है।

पर प्रकाश डाला गया

  1. जब किडनी ठीक से फिल्टर नहीं कर पाते तो शरीर में टॉक्सिन बढ़ता दिखता है।
  2. विषाक्त पदार्थ मूत्र के माध्यम से शरीर से बाहर निकलने के बजाय रक्त में ही रहते हैं।
  3. मफ और क्रोनिक किडनी रोग के बीच भी एक संबंध है।

लाइफस्टाइल डेस्क, डेकॉर।। शरीर को स्वस्थ्य करने में आयुर्वेद का विशेष योगदान है। किडनी हमारे शरीर में टॉक्सिन को बाहर निकालने का काम करती है। ऑपरेटोइज़ और इलेक्ट्रॉनिक्स में विविधता के कारण आजकल कम उम्र में ही लोगों को किडनी से संबंधित होने की समस्या बनी हुई है। ऐसे में किडनी से जुड़ी समस्या का होना से पहले ही इससे जुड़े हुए आयुर्वेदिक पुस्तकालयों को डाउनलोड करना बेहद जरूरी है। प्रारंभिक प्रारंभिक आवेदन के अनुसार यदि हम चाहें तो भविष्य में किडनी से जुड़ी गंभीर बीमारी से बच सकते हैं। इस बारे में अधिक जानकारी दे रहे हैं बाबू ईश्वर शरण हॉस्पिटल के सीनियर फिजिशियन डॉ. समीर।

बहुत ज्यादा थकान होना

जीव-जंतुओं की दुकान रक्त में गंभीर कमी से बंधकों और अभिभावकों की पकड़ हो जाती है। इसके कारण लोगों को थकान, कमजोरी महसूस हो सकती है। किडनी रोग की एक और आकृति है। इनमें कमजोरी और थकान भी हो सकती है।

naidunia_image

अच्छी नींद नहीं होगी

जब किडनी ठीक से फिल्टर नहीं कर पाते तो शरीर में टॉक्सिन बढ़ता दिखता है। विषाक्त पदार्थ मूत्र के माध्यम से शरीर से बाहर निकलने के बजाय रक्त में ही रहते हैं। इससे प्रभावित नींद होती है। मफ और क्रोनिक किडनी रोग के बीच भी एक संबंध है। क्रोनिक किडनी रोग वाले लोगों में स्लीप एपनिया की समस्या आम है।

त्वचा शुष्क और खुजली होना

अगर किडनी ठीक तरह से काम नहीं करती है तो इसके लक्षण त्वचा पर भी दिखाई देते हैं। शरीर में टॉक्सिन बढ़ने पर त्वचा रूखी और खुजली युक्त होती है। इन प्रशिक्षणों का अनावरण नहीं करना चाहिए।

अधिक बार पेशाब आना

अगर आपको बार-बार पेशाब आ रहा है तो किडनी की बीमारी का संकेत हो सकता है। जब किडनी के फिल्टर खराब हो जाते हैं तो पेशाब करने की इच्छा बढ़ सकती है। कभी-कभी यह पुरुषों में मूत्र संक्रमण या बढ़े हुए लिपस्टिक का संकेत भी हो सकता है। इसके अलावा मूत्र में रक्त के कण भी दिखाई दे सकते हैं।

आँखों के आस-पास सूजन

आंखों के पास सूजन होना भी किडनी की मांसपेशियों के शुरुआती संकेत हैं। इसे पफी आई सिंड्रोम कहा जाता है। किडनी शरीर का बहुत सारा प्रोटीन यूरिन को ख़त्म करना शुरू कर दिया जाता है।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button