BusinessFoodsGamesTravelएंटरटेनमेंटदुनियापॉलिटिक्सवाराणसी तक

Khargone News: बेटी के आत्‍मदाह के बाद शराबी पिता गिरफ्तार, घर लौटने पर विवाद किया तो स्‍वजनों ने कुर्सी से बांध बुलाई पुलिस

पेट्रोल डीजल आग लगाने से पहले पूजा ने लिखा था आत्मघाती नोट। इसमें पिता, पुलिस और शराब बनाने वाले और शराब पीने वाले लोगों की मौत का जिम्मेदार है।

द्वारा हेमन्त कुमार उपाध्याय

प्रकाशित तिथि: रविवार, 28 अप्रैल 2024 07:37 पूर्वाह्न (IST)

अद्यतन दिनांक: रविवार, 28 अप्रैल 2024 07:44 पूर्वाह्न (IST)

खरगोन समाचार: बेटी के पिता के बाद शराबी पिता गिरफ्तार, घर वापस आने पर हुआ विवाद तो वारंटियों ने कुर्सी से बांधा बंधन पुलिस

पर प्रकाश डाला गया

  1. आत्मदाह से पहले पूजा ने दी थी पुलिस को चेतावनी
  2. इंदौर के एमवाय अस्पताल में हुआ हादसा, पिता की गिरफ्तारी का मामला
  3. शराब पीकर मां के साथ संबंध तो कभी चरित्र में बाहर तक पिता को नहीं देता

नईदुनिया प्रतिनिधि, खरगौन। बेटी के अततमदाह इसके बाद पुलिस ने शराबी पिता को गिरफ्तार कर लिया। घटना के बाद लापता पिता करीब 24 घंटे बाद घर लौटे और प्रियजनों से विवाद हुआ। इसके बाद स्वैच्छिकजनों ने उसे रांची कुर्सी से बांध दिया और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद परमाणु पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

यह मामला मप्र के खरगोन जिले के बड़वाह के ग्राम रावत पलासिया का है। शुक्रवार को बड़वाह से कुछ किमी दूर रावत पलासिया में 18 वर्ष की पूजा चौहान ने छत पर खुद को पेट्रोल पंप के लिए बनाया। अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। मृत्यु से पहले पूजा ने आत्मघाती नोट भी लिखा।

पिता मन कभी शराब पीकर मां के साथ ग़ैरमन्दगी करते हैं तो कभी चरित्र को बाहर तक नहीं लाते। इससे तो बेटी पूजा चौहान परेशान थी, लेकिन इस समस्या का समाधान न करने वाले दो प्रेरणाओं की कार्रवाई से भी वह मोहा थी।

naidunia_image

पेट्रोल डीजल आग लगाने से पहले पूजा ने लिखा था आत्मघाती नोट। इसमें पिता, पुलिस और शराब बनाने वाले और शराब पीने वाले लोगों की मौत का जिम्मेदार है। मामले में शनिवार को पिता मना को गिरफ्तार कर लिया गया है। आगे की जांच जारी है।

ग्रामीणों की सहायता से पूजा को बड़वाह सिविल अस्पताल ले जाया गया। यहां मौजूद डॉक्टरों ने इलाज किया। इसके बाद उसे रेस्तरां रेफरेंस कर दिया गया। घर पहुंचने से पहले ही पूजा ने दम तोड़ दिया। डॉक्टरों के कहने के बाद करीब एक घंटे बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। वह करीब 90 फीसदी जलवाली थी। पूजा के शव का देवता के एमवाय अस्पताल में हुआ। इसका अंतिम संस्कार गांव में किया गया।

घटना वाले दिन शुक्रवार की सुबह पिता ने मां के साथ शराब पीकर ससुराल की थी। पूजा ने 100 डायल पिता को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन मन वहां से भाग गया। इसके बाद पूजा ने सिपाहियों से कहा कि तुम मेरे साथ चलो जहां पिता हैं, उन्हें पकड़ लो।

चचेरे भाई मुकेश के अनुसार पूजा ने सिपाहियों को चेतावनी भी दी थी कि यदि उसके पिता को पकड़ा नहीं गया है तो उसने आत्महत्या कर ली है, लेकिन पुलिस जबवाले से चली गई तो उसने कुछ देर बाद भी फांसी की सजा का नोट लिखकर घर की छत पर जाकर खुद को आग लगा ली। था।

पूजा घर में मां से बेहद प्यार करती थी। यही कारण है कि जब पिता नाराज थे तो वह उनका विरोध करती थी। पूजा के अलावा घर में तीन बहनें हैं। लक्ष्मी सबसे बड़ी है। वह मुंबई में रहती है। जबकि पूजा से छोटी कुमकुम और मिठी है। युवतियों ने कहा कि हमारा गांव अवैध शराब का गढ़ है। यहां अवैध शराब बंद होनी चाहिए।

दवाइयाँ थी पूजा

कुछ दिन पहले आए परीक्षा परिणामों में बड़वाह के सीएम राइज स्कूल में ओवरवी क्लास की बायोलाजी विषय में 74 प्रतिशत अंक प्राप्त हुए थे। वह स्कूल के पास व्यक्ति रहता था। हंसा कनुडे ने बताया कि वह रिजल्ट निकालना तो नहीं चाहती थी, लेकिन उसकी बड़ी बहन से बात हुई थी। एक्जाम की इंटरैक्टिव में पढ़ाई हुई थी। पूजा को पढ़ने में उसकी बड़ी बहन लक्ष्मी ने बहुत मदद की थी। बाकी पूजा को पिता ने नहीं पढ़ा था।

इस मामले में एसपी धर्मराज मीना का कहना है कि पूजा के पिता मान पर छह बार प्रतिबंधात्मक अन्य तरह की कार्रवाई की गई थी।

  • लेखक के बारे में

    प्रिंट मीडिया में कार्य का 33 वर्ष का अनुभव। डिजिटल मीडिया में पिछले 9 वर्षों से रेलवे। पूर्व में नवभारत डेकोर और डेली अवेअर में गेम एडिटर और नईदुनिया में डेकोरेटिव डिपार्टमेंट में अहम जिम मदर्स का


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button