BusinessFoodsGamesTravelएंटरटेनमेंटदुनियापॉलिटिक्सवाराणसी तक

Bhopal News: मंत्री पुत्र की दबंगई, दुर्घटना के बाद बाइक सवार को पीटा, बचाव में आए दंपती से भी मारपीट, देर रात तक थाने में हाई प्रोफाइल ड्रामा – Bhopal News In Bhopal minister son beat up the bike rider and the couple after the accident High profile drama in the police station till late night

खबर लिखी जाने तक शिकायती पक्ष थाने में मौजूद थी, लेकिन एफआइआर दर्ज नहीं हुई थी।

द्वारा हेमन्त कुमार उपाध्याय

प्रकाशित तिथि: रविवार, 31 मार्च 2024 06:21 पूर्वाह्न (IST)

अद्यतन दिनांक: रविवार, 31 मार्च 2024 06:25 पूर्वाह्न (IST)

भोपाल समाचार: मंत्री पुत्र की दबंगई, हादसे के बाद बाइक सवार को पीटा, डिविजन में दावे से भी आया घर, देर रात तक थाने में हाई प्रोफाइल ड्रामा

पर प्रकाश डाला गया

  1. तूफान घंटे तक स्टेशन में प्रेशर ब्रेक रहे मंत्री फिर बेटे को साथ लेकर चले गए
  2. शाहपुरा इलाक़े की घटना, पुलिस के अलाबाज़ ने साधी शैलियाँ
  3. घायल युवाओं को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

भोपाल। शाहपुरा थाना क्षेत्र के त्रिलंगा कालोनी में शनिवार रात करीब नौ बजे राज्य मंत्री नरेंद्र मोदी शिवाजी पटेल के बेटे ने अपने साथियों के साथ मिलकर दोपहिया वाहन उद्योगपतियों के साथ मिलकर जोरदार जश्न मनाया। जान के लिए गरीब युवाओं ने एक रेस्तरां में किराए पर ली तो गरीबों के लिए एक रेस्तरां शुरू कर दिया।

घायल युवाओं को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना का पता चल ही गया पुलिस मंत्री पुत्र और उनके साथियों को न्याय में ले लिया गया। यह बात पता चली मंत्री पटेल शाहपुरा स्टेशन जाजा और पुलिस पर उनके बेटों के साथ रहने का आरोप। हाईप्रोफाइल मामला से पुलिस के आला अधिकारी भी थाने पहुंचे थे। करीब एक घंटे तक मंत्री कार्यालय में जमे रहे। रात करीब 11 बजे वह बेटे अभिज्ञान को साथ लेकर स्टेशन से चली गई।

naidunia_image

जानकारी के मुताबिक एक न्यूज चैनल के पत्रकार विवेक सिंह शनिवार की रात त्रिंगा काली स्थित माखनलाल यूनिवर्सिटी के पुराने भवन के सामने से बाइक से गुजर रहे थे। इस दौरान कार सवार कुछ लोगों ने अपनी बाइक के पीछे से टक्कर मार दी। विवेक ने कार चालक से ओके से गाड़ी चलाने की बात कही। इस पर कार शोरूम ने विवेक के साथ काम करना शुरू कर दिया। जान के बचाव के लिए विवेक पास के एक रेस्तरां में घुस गया।

वहां के युवा भी रेस्तरां के दुकानदार अलीसा और उसके पति क्लार्क मार्टिन के पास पहुंचे, जिन्होंने विवेक को बचाने की कोशिश की, तो स्टूडियो ने मार्टिन के साथ भी कारोबार कर दिया।

घटना की जानकारी पुलिस से मिल कर प्लाटों को ले ली गई। उनके बाद मंत्री के स्टेशन राष्ट्रमंडल ही शुरू हुआ। इस मामले में पुलिस के आला अधिकारी देर रात तक चुप रहे। विदेश मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल ने लगातार किसी भी फोन पर संपर्क नहीं किया। खबर लिखी जाने तक शिकायती पक्ष थाने में मौजूद थी, लेकिन एफआइआर दर्ज नहीं हुई थी।

  • लेखक के बारे में

    प्रिंट मीडिया में कार्य का 33 वर्ष का अनुभव। डिजिटल मीडिया में पिछले 9 वर्षों से रेलवे। पूर्व में नवभारत डेकोर और डेली अवेअर में गेम एडिटर और नईदुनिया में डेकोरेटिव डिपार्टमेंट में अहम जिम मदर्स का


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button