BusinessFoodsGamesTravelएंटरटेनमेंटदुनियापॉलिटिक्सवाराणसी तक

मुख्तार का ऐसा था रुतबा: जेल में भी साथ रह लेती थी पत्नी आफ्शा, अब पति के शव का दीदार भी नसीब नहीं

मुख्तार अंसारी की मौत की खबर, पत्नी अफशा ने नहीं देखा मुख्तार का शव

मुख्तार अंसारी और अफशा अंसारी
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


मुख्तार के दावे और विक्ट्री में ऐसा कहा गया था कि उसकी पत्नी आफशा अभियोजक जेल में न सिर्फ रोज मिलती थी, बल्कि कई बार पति के साथ जेल की सलाखों के पीछे भी रहती थी। लेकिन, समय का चक्र ऐसा बदला कि आपशा अपने पति की मौत के बाद शव का आखिरी दीदार तक नहीं कर पाई।

मुख्तार की दोस्ती महरुपुर निवासी अतिउर रहमान नाइक बाबू से थी। घर से पांच किमी दूर अतिउर रहमान के घर का मुखिया का आना हुआ था। इसी समय मुखिया की अतिउर रहमान की भतीजी आफ़शा से दोस्ती हो गई। बाद में दोनों ने लव स्टेज वेडिंग कर ली। मुख्तार के वकील जरायम की दुनिया का बेताज बादशाह बन गया और आखिरकार पुलिस के हाथ चढ़ गया।

आफशा भी पति के साथ कदम से कदम मिलाकर चलती रही। 2005 में मुख्तार के जेल जाने के बाद अफ्शा ने अपनी ट्रेन को टेकओवर कर लिया। बच्चों के बड़े होने के बाद मुख्तार के गैंग एमएस-191 की कमान उन्होंने अपने हाथों में ले ली। स्थिति यह हो गई कि उसके विरुद्ध गंभीर 13 प्रतिशत दर्ज हो गए। ग़ैरमामूली पुलिस ने 50 और एमओयू पुलिस पर 25 हज़ार रुपये की छूट की घोषणा की। आफशा की धरपकड़ के लिए जिले से लेकर राजधानी तक की पुलिस लगी है।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button