BusinessFoodsGamesTravelएंटरटेनमेंटदुनियापॉलिटिक्सवाराणसी तक

जानलेवा है कोलोरेक्टल कैंसर: 50 से 75 साल उम्र वालों में बीमारी अधिक; BHU के इस विभाग के अध्ययन में आया परिणाम

आईएमएस बीएचयू गैस्ट्रोएंटरोलॉजी विभाग के अध्ययन में कोलोरेक्टल कैंसर घातक बताया गया

आईएमएस बीएचयू
– फोटो : अमर उजाला

: …


कोलोरेक्टल कैंसर यानी बड़ी आंत का कैंसर। यह सबसे खतरनाक है। समय से इस पर ध्यान देने से यह घातक होती है। आईएमएस बीएचयू के वर्चुअल साइंस विभाग में एम्स दिल्ली और एसएसपीआई लखनऊ के साथ मिलकर एक अध्ययन शुरू किया गया है। पहली नजर में यह पाया गया कि 50 साल से 75 साल के बीच वाले लोगों में यह बीमारी अधिक देखने को मिल रही है। इस बीमारी के बारे में और जानकारी के उद्देश्यों से इस पर आगे भी अध्ययन जारी रहेगा।

बिहार यूनीवर्सिटी विभाग में वाराणसी सहित अन्य जिलों में हर दिन 400 से अधिक लोग पेट से जुड़ी अलग-अलग बीमारियों की समस्या लेकर आते हैं। जहां तक ​​बड़ी आंत के कैंसर की बात है, हर दिन पांच से सात मरीज ओपीडी में आ रहे हैं।

विभागाध्यक्ष डॉ. देवेश प्रकाश यादव का कहना है कि देश भर में कोलोरेक्टल कैसर के मामले बढ़ रहे हैं। कैंसर और उससे होने वाली बीमारियों के मामलों में शीर्ष दस कैंसर भी शामिल हैं। इसकी प्रारंभिक पहचान और उपचार को देखते हुए नए वायरस से अध्ययन करने का निर्णय लिया गया है।

50-75 आयु वर्ग के सभी लोगों की जांच करने से बीमारी का पता चलने की दर और बीमारियों के स्वास्थ्य में सुधार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। आईसीएमआर के सहयोग से होने वाले अध्ययन के दौरान जांच भी की जाएगी।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button