BusinessFoodsGamesTravelएंटरटेनमेंटदुनियापॉलिटिक्सवाराणसी तक

इस महीने शादियों के चार शुभ मुहूर्त: 17 जुलाई से शुरू होगा चातुर्मास, भद्रा के साथ बन रहा लग्न व राहु का दोष

जुलाई माह में विवाह के लिए चार शुभ मुहूर्त, 17 जुलाई से शुरू होगा चातुर्मास, लग्न और राहु दोष

जुलाई माह के विवाह मुहूर्त।
– फोटो : अमर उजाला

: …


जुलाई में महज चार दिन ही शादी के शुभ मुहूर्त हैं। करीब एक दशक बाद इस महीने शादी के लिए इतने कम समय लग रहे हैं। शादी के लिए शुभ मुहूर्त 9, 10, 11 और 12 जुलाई है। जबकि शेष दिनों के सभी दोषों के कारण शुभ मुहूर्त नहीं बन पा रहा है। वहीं, 17 जुलाई से देवशयनी एकादशी को चातुर्मास प्रारंभ होने से मांगलिक कार्य पर विराम लग जाएगा।

गुरु व शुक्र ग्रह के अस्त होने की वजह से मई और जून में घटनाओं पर विराम लगा था। लेकिन, दोनों ग्रहों के उदय होने के बाद मांगलिक कार्य शुरू तो हुए लेकिन शादी के लिए चंद लग्न ही मिल रहे हैं। क्योंकि, चातुर्मास जल्दी आ जाने से लग्न नहीं है।

जुलाई के बाद नवंबर में विवाह के लग्न मिल रहे हैं। आचार्य दैवज्ञ कृष्ण शास्त्री और आचार्य अमित मिश्र ने बताया कि 13, 14 और 15 जुलाई को विवाह के नक्षत्र हैं। मगर, भद्रा के अलावा राहु, मृत्यु वान और लग्न दोष होने के कारण विवाह के लिए ये उत्तम नहीं है। 17 जुलाई को देवशयनी यानी हरिशयनी एकादशी को भगवान विष्णु शयन करने चले जायेंगे और चातुर्मास शुरू हो जाएगा।

आशीर्वाद का कोई मतलब नहीं

चातुर्मास के दौरान मांगलिक कार्य नहीं होते। इस दौरान विवाह करने पर भगवान का आशीर्वाद नहीं मिलता है, इसलिए वैवाहिक जीवन सुख नहीं टिकता है। शादी के लिए शुभ लग्न व मुहूर्त का होना जरूरी होता है। इसके लिए वृष, मिथुन, कन्या, तुला, धनु एवं मीन लग्न में से किसी एक का होना जरूरी होता है। साथ ही उत्तम मुहूर्त के लिए रोहिणी, मृगशिरा या हस्त नक्षत्र में से किसी एक का भी होना जरूरी है।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button