News

अयोध्या: भव्य दीपोत्सव केलिए छावनी में तब्दील हुई राम नगरी, आज से बाहरी लोगों की नो एंट्री

अयोध्या एसएसपी दीपक कुमार ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया

अयोध्या एसएसपी दीपक कुमार ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया

यही नहीं अयोध्या (अयोध्या) को लेकर जो संभावित आतंकी खतरा बना रहता है, उसको लेकर भी सुरक्षा रणनीति बना ली गई है और इसके तहत बम डिस्पोजल दस्टा और क्विक फाइनेंस टीम सहित सुरक्षाबलों को बाहर से बुलाया जा रहा है।

अयोध्या। चौथे भव्य दीपोत्सव (दीपोत्सव) को लेकर अयोध्या (अयोध्या) में विस्तृत सुरक्षा व्यवस्था का खाका खींचा जा रहा है। इसमें कार्यक्रम स्थल से लेकर सरयू तट के बारे में पार तक और संभावित आतंकी खतरे के मद्देनजर भी सुरक्षा योजना तैयार कर ली गई है। अयोध्या के वरिष्ठ पुलिस अफसरों की मानें तो अयोध्या शहर के बाहर के लोग दीपोत्सव स्थल के आसपास तो क्या अयोध्या में भी प्रवेश नहीं कर पाएंगे। इसके लिए रूट डायवर्जन किया जा रहा है। यहां तक ​​उस कार्यक्रम स्थल पर आमंत्रित किए गए लोगों की भी एलआईयू जांच कराई जा रही है। बिना अनुमति पत्र के कोई कार्यक्रम स्थल तक नहीं पहुंच पाएगा, चाहे वह अयोध्या शहर का ही क्यों न हो।

त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था

यह नहीं है अयोध्या को लेकर जो संभावित आतंकी खतरा बना रहता है, उसको लेकर भी सुरक्षा रणनीति बना ली गई है और इसके तहत बम डिस्पोजल दस्टा और क्विक एक्सपर्ट टीम सहित सुरक्षाबलों को बाहर से बुलाया जा रहा है। कार्यक्रम स्थल सहित हर महत्वपूर्ण स्थानों की त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है और जिसको लेकर लगातार समीक्षा भी की जा रही है।

एसएसपी ने कही ये बातष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने बताया कि अयोध्या में भव्य और दिव्य तरीके से दीपोत्सव कार्यक्रम मनाया जाता है। दीपोत्सव 13 तारीख को है। सुरक्षा की पूरी तैयारी प्रशासन के द्वारा कर ली गई है। वरिष्ठ अधिकारियों ने भी मंगलवार को निरीक्षण किया था और आवश्यक निर्देश हम लोगों को दिया था। सभी सुरक्षा एजेंसियों में पर्याप्त समन्वय हैं। त्रिस्तरीय ड्यूटी हम लोगों के द्वारा लगा दी गई है। सरयू में भी हमारी 24 घंटे की ड्यूटी रहेगी। जिससे नदी के उस पार से अवांछित तत्व अयोध्या में प्रवेश न कर सके।

स्थानीय लोग ही प्रवेश करते हैं

उन्होंने बताया कि 13 तारीख को कार्यक्रम है। उसके 2 दिन पहले से जनपद में जो खास तौर पर अयोध्या शहर में वहीं के लोगों को आने की अनुमति है। बाहर के लोग यहां पर नहीं आ सकते हैं। जो हाईवे है वहां से भी हम लोग डायवर्जन करेंगे। अयोध्या के लोग ही यहां पर आ जाएंगे। बाहरी लोगों को हाईवे से भेजा जाएगा। कोविद -19 प्रोटोकॉल के कारण अन्य लोगों को इजाजत नहीं दी जाएगी। हम सुरक्षित वातावरण देने के लिए पूरी तरह से दृढ़ प्रतिज्ञ हैं।




Source link

Show More

varanasicoverage4742

“खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते”।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button