NEW!Incredible offer for our exclusive subscribers! Read More
khabarNEWSNews

क्या शी जिनपिंग को हुआ कोरोना? बार-बार आ रही खांसी ने रोका चीनी राष्ट्रपति का भाषण

1 Mins read


पेइचिंग
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के स्वास्थ्य को लेकर अटकलों का बाजार गरम है। बुधवार को हॉन्ग कॉन्ग के नजदीक शेन्जेन में एक कार्यक्रम के दौरान चीनी राष्ट्रपति बार-बार खांसते दिखाई दिए। भाषण के अंतिम 10 मिनटे में उनकी खांसी इतनी बढ़ गई कि उन्हें अपना उद्बोधन तक कुछ देर के लिए रोकना पड़ा। हालांकि, वहां की सरकारी मीडिया ने जिनपिंग के स्वास्थ्य को लेकर कोई भी रिपोर्ट जारी नहीं की है।

खांसी के कारण रोकना पड़ा लाइव भाषण
सरकारी टीवी चैनल सीसीटीवी पर जिनपिंग के भाषण का लाइव टेलिकॉस्ट किया जा रहा था। जब उन्हें खांसी आने लगी तो टीवी चैनल बार-बार उनकी खांसी वाले विजुअल को काटना शुरू कर दिया। हालांकि, इस दौरान आडियो में उनके खांसने की आवाजें सुनाई दे रही थीं। एक ऐसा विजुअल भी दिखाई दिया जिसमें शी जिनपिंग अपने मुंह पर हाथ रखे हुए थे।

कोरोना संक्रमण की आधिकारिक पुष्टि नहीं
ऑडियो में राष्ट्रपति जिनपिंग अपने गले को साफ करने के लिए पानी से गलाला करते भी सुनाई दिए। इसके बाद से ही तेजी से अफवाह फैल रही है कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। हालांकि इसकी अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है। हॉन्ग कॉन्ग की लोकतंत्र समर्थन एपल टीवी ने भी दावा किया है कि जिनपिंग खांसी के कारण अपना दौरा स्थगित कर वापस पेइचिंग चले गए हैं।

अमेरिका-भारत से तनाव, चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग बोले- जंग के लिए तैयार रहे सेना

लोगों के बीच बिना मास्क के दिखे जिनपिंग
एपोक टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में सीधा सवाल किया है कि क्या चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग कोरोना से संक्रमित हैं? वे दक्षिणी चीन की यात्रा के दौरान शेन्जेन पहुंचे थे। यहां उनको लोगों के बीच बिना मास्क पहने देखा गया था। हालांकि, इस दौरान वे लोगों से कुछ दूरी पर खड़े हुए दिखाई दिए थे।

कोरोना के कारण चीन की ‘अंतरराष्ट्रीय बेइज्जती’, सर्वे में लोग बोले- जिनपिंग पर भरोसा नहीं

क्या कुछ छिपा रहा है चीन?
चीन में आधिकारिक तौर पर हर दिन लगभग 10 से ज्यादा कोरोना वायरस के मामले दर्ज किए जा रहे हैं। हालांकि, कई विशेषज्ञों को चीन के इस आंकड़ों पर संदेह है। चीन ने पहली बार अपनी विकासदर को कम होने का अनुमान जताया है। ऐसे में संदेह जताया जा रहा है कि चीन वास्तविक आंकड़ों को छिपाकर गलत जानकारी साझा कर रहा है।



Source link

979 posts

About author
“खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते”।
Articles
Related posts
khabarNEWSNews

जग्गी वासुदेव से मिले हॉलिवुड स्टार विल स्मिथ, सदगुरु ने शेयर की तस्वीरें

1 Mins read
ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सदगुरु जग्गी वासुदेव और हॉलिवुड स्टार विल स्मिथ की हाल ही में खास मुलाकात हुई थी। सदगुरु ने…
khabarNEWSNews

हाथरस: दिल्ली शिफ्ट होना चाहता है पीड़िता का परिवार, भाई ने कहा- यहां रहकर हर रोज आती है बहन की याद

1 Mins read
हाइलाइट्स: हाथरस गैंगरेप-मर्डर केस की सीबीआई जांच के बीच पीड़िता का परिवार फिर गांव छोड़ने की बात कर रहा है पीड़िता के…
khabarहोम

Nimrat Kaur keeps it effortless in chic top and pants for outing. See photos

1 Mins read
निमरत कौर इसे आउट करने के लिए ठाठ टॉप और पैंट में आसानी से रखती हैं। फ़ोटो देखें Source link
Power your team with InHype

Add some text to explain benefits of subscripton on your services.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *